Get it on Google Play

शास्त्र ज्ञान सीरिज में, आज दूसरा वीडियो, रामचंद्र जी के वनवास के बारे में | जब रामचंद्र जी को वनवास हुआ तो उन्होंने क्यों मान लिया ? यदि भरत को ही राजा बनाना था तो बंटवारा मांग लेते, जैसे युधिष्ठिर ने मांग लिया था | भरत भी राजा हो जाता और वनवास भी न जाना पड़ता | ऐसी क्या मजबूरी थी, रामचन्द्र जी की, जो सपत्निक वनवास गए ? किसी दुसरे राज्य में चले जाते, राजा को जीत लेते और वहां राज कर लेते ? गुह के पास रह लेते ? वनवास जाना इतना भी क्या जरूरी था ?

केवल रामायण देखने से नही, अपितु चिन्तन मनन से ही, आप रामायण के असली तत्व को समझ पायेंगे अन्यथा कहानी की तरह पूरी रामायण देख डालेंगे पर जीवन में उतारने लायक कुछ न मिलेगा | फिर रामयाण देखने से क्या लाभ ? बच्चो से भी यही प्रश्न पूछना चाहिये ताकि उनको भी रामायण समझ में आये | आज चर्चा करते हैं, इसी प्रश्न पर | छोटा वीडियो है पर महत्वपूर्ण है | अवश्य देखें और यदि अच्छा लगता है तो शेयर अवश्य करें और सबस्क्राइब करें ताकि आगे के नये वीडियो आपको मिलते रहें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *