You cannot copy content of this page
Get it on Google Play

युद्ध फल

Tagged , , Leave a Comment on युद्ध फल

सन्दर्भ – जब इंद्र का युद्ध वृत्तासुर से प्रारंभ हुआ और देवताओं ने दधिची की हड्डियों से बनाये हुए अस्त्र शस्त्रों से दैत्यों का नाश करना प्राम्भ कर दिया तब सभी राक्षस […]

READ MORE

प्रदोष व्रत एवं शिव पूजा

Tagged , , 2 Comments on प्रदोष व्रत एवं शिव पूजा

सन्दर्भ – ये उस समय की बात  है जब विश्वकर्मा ने इंद्र से बदला लेने के लिए कठोर तप कर के ब्रह्मा जी से वृत्तासुर नामक पुत्र का  आशीर्वाद लिया । वह असुर प्रतिदिन […]

READ MORE

ब्रह्म हत्या

Tagged , , Leave a Comment on ब्रह्म हत्या

धर्मो हि मह्ताभेष शरणागतपालनम । शरणागतम च विप्रं च रोगिणं वृद्धमेव च ।। सन्दर्भ – यह उक्ति उस समय की है जब इंद्र बलि के पास समुन्द्र मंथन का प्रस्ताव ले कर […]

READ MORE

उद्देश्य

Tagged , , 3 Comments on उद्देश्य

इस ब्लॉग का उद्देश्य शास्त्रों के ज्ञान का प्रसार और सर्व साधारण को अपने शास्त्रों और वेदों की नीतियों से अवगत करना है । मैंने अभी कुछ समय पूर्व ही यथासंभव कुछ […]

READ MORE

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: