Tag Archive: रावण

Feb 05

अघोरी बाबा की गीता – भाग ७

नटराज का नर्तन मनुष्य सबसे पहले अपनी चिंता करता है, फिर अपने परिवार की, उसके बाद समाज की और सबसे बाद में देश की | लेकिन नीति कहती है कि जब देश पर विपत्ति आये तो मनुष्य अपने गाँव/परिवार को त्याग दे और देश को बचाने के प्रयत्न करे | जब गाँव/समाज पर मुसीबत आये …

Continue reading »

Nov 16

रावण वध की योजना

उद्देश्य – इस संधर्भ का उद्देश्य मात्र रामायण से पहले के रावण वध की प्रस्तावना और भगवान् राम के सभी सहयोगियों का परिचय कराना है जहाँ कुछ भ्रान्तिया हैं । स्कंध पुराण के अंश से मुझे निम्न लिखित उद्धरण मिला जो आपके सामने प्रस्तुत है । सन्दर्भ – सभी देवता रावण के अत्याचारों से त्रस्त …

Continue reading »